भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी का प्रकाशन पार्टी जीवन पाक्षिक वार्षिक मूल्य : 70 रुपये; त्रैवार्षिक : 200 रुपये; आजीवन 1200 रुपये पार्टी के सभी सदस्यों, शुभचिंतको से अनुरोध है कि पार्टी जीवन का सदस्य अवश्य बने संपादक: डॉक्टर गिरीश; कार्यकारी संपादक: प्रदीप तिवारी

About The Author

Communist Party of India, U.P. State Council

Get The Latest News

Sign up to receive latest news

समर्थक

शनिवार, 17 अप्रैल 2010

CPI DEMANDS : KERALA GOVERNMENT MUST INITIATE MOVES AGAINST COCA-COLA

CPI DEMANDS : KERALA GOVERNMENT MUST INITIATE MOVES AGAINST COCA-COLA
The Report of the High Power Committee that was set up by the Kerala Government in April 2009 to assess the extent of damages caused by the Coca-Cola plant at Plachimada has come out with its report.

After a thorough scientific assessment of the damages caused to ground water, human health, agricultural live-stock, and labour and livelihood, the Committee has put the estimate to a total of Rs. 216.26 crores.

As usual the multinational Coca-Cola has ignored the Committee. But basing on the principle laid down by the Supreme Court that the 'polluter pays the price', the Kerala Government must follow up the report of its own committee by initiating legal and administrative steps to assess the individual claims and the actual compensation to be decreed. Coca-Cola must be made to pay.

The Communist Party of India recalls the massive agitation that was launched in the entire district of Palakkad against the Coca-Cola plant which compelled the Government to set up the High Power Committee. A similar movement must now be launched to make the Coca-Cola to pay for the damage caused.
»»  read more

आशावाद

तूफ़ान है
और जड़ों तक काँप रहा है पेड़।
लेकिन उसकी डाल पर बैठे
कवि के लिए
भविष्य उजला है।
क्योंकि वह पेड़ नहीं
उसका काँपना नहीं
तूफ़ान नहीं
बल्कि पत्तों का हरापन
देख रहा है।
- वेणु गोपाल
»»  read more

मजदूर का जन्म

एक हथौड़े वाला घर में और हुआ !
हाथी सा बलवान,
जहाजी हाथों वाला और हुआ !
सूरज-सा इंसान,
तरेरी आँखों वाला और हुआ !!
एक हथौड़े वाला घर में और हुआ!
माता रही विचार:
अँधेरा हरने वाला और हुआ !
दादा रहे निहार:
सबेरा करने वाला और हुआ !!
एक हथौड़े वाला घर में और हुआ !
जनता रही पुकार:
सलामत लाने वाला और हुआ !
सुन ले री सरकार!
कयामत ढाने वाला और हुआ !!
एक हथौड़े वाला घर में और हुआ !

- केदार नाथ अग्रवाल

»»  read more

जो जीवन की धूल चाट कर बड़ा हुआ है

जो जीवन की धूल चाट कर बड़ा हुआ है
तूफ़ानों से लड़ा और फिर खड़ा हुआ है
जिसने सोने को खोदा लोहा मोड़ा है
जो रवि के रथ का घोड़ा है
वह जन मारे नहीं मरेगा
नहीं मरेगा
जो जीवन की आग जला कर आग बना है
फौलादी पंजे फैलाए नाग बना है
जिसने शोषण को तोड़ा शासन मोड़ा है
जो युग के रथ का घोड़ा है
वह जन मारे नहीं मरेगा
नहीं मरेगा

- केदार नाथ अग्रवाल

»»  read more

महिला आरक्षण विधेयक के समर्थन में मुस्लिम महिलाओं का लखनऊ में धरना

पुरूषवादी ताकतों द्वारा लोकसभा एवं विधानसभाओं में महिलाओं के लिए बहुप्रतीक्षित महिला आरक्षण विधेयक के खिलाफ जारी मुहिम के खिलाफ महिलाओं के मध्य प्रतिक्रिया अब खुले रूप से सामने आने लगी है। लखनऊ में 15 अप्रैल 2010 को मुस्लिम महिलाओं ने लखनऊ के शहीद स्मारक पर महिला आरक्षण विधेयक के समर्थन में धरना आयोजित किया। भारतीय मुस्लिम महिला आन्दोलन का एक बैनर लेकर सैकड़ों महिलाओं ने इस विधेयक को महिलाओं की समानता एवं न्याय के लिए एक शताब्दी से जारी संघर्ष की ऐतिहासिक विजय बताते हुए इसे हर कीमत पर प्राप्त करने के लिए अपनी आवाज को बुलन्द किया। वक्ताओं ने कहा कि यह विधेयक पास होने के बाद ऐसी लोकतंात्रिक प्रक्रिया शुरू होगी जिससे अन्य महिलाओं के साथ साथ मुस्लिम महिलाओं को भी सत्ता में अपनी न्यायपूर्ण हिस्सेदारी मिलेगी। वक्ताओं ने इस विधेयक का विरोध करने वाले राजनेताओं एंव धार्मिक नेताओं को आड़े हाथ लेते हुए कहा यह अन्यायपूर्ण एवं संविधान में निहित भावना का उल्लंघन है। प्रदर्शनकारियों को सम्बोधित करने वाली प्रमुख वक्ता थीं - नाइश हसन, नाज रजा, शहनाज, मुन्नी शरीफ, जहां, बेबी, राबिया, सलमा, सायारा, रहनुमा, हमरून, किश्वर जहां, रूखसाना, नायाब जहां आदि।
»»  read more

लोकप्रिय पोस्ट

कुल पेज दृश्य