भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी का प्रकाशन पार्टी जीवन पाक्षिक वार्षिक मूल्य : 70 रुपये; त्रैवार्षिक : 200 रुपये; आजीवन 1200 रुपये पार्टी के सभी सदस्यों, शुभचिंतको से अनुरोध है कि पार्टी जीवन का सदस्य अवश्य बने संपादक: डॉक्टर गिरीश; कार्यकारी संपादक: प्रदीप तिवारी

About The Author

Communist Party of India, U.P. State Council

Get The Latest News

Sign up to receive latest news

समर्थक

गुरुवार, 2 अप्रैल 2020

CPI UP Letter To CM UP 4


भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, उत्तर प्रदेश राज्य काउंसिल

22, कैसर बाग, लखनऊ- 226001

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम भाकपा का पत्र- 4
By- e-mail
दिनांक- 2 अप्रेल 2020
विषय- जनपद गौतमबुध्द नगर एवं बंबई में फंसे मजदूरों को राहत सामग्री उपलब्ध कराये जाने और उनकी चिकित्सकीय देख- रेख के सबंध में।

सेवामें,
श्री योगी आदित्यनाथ जी
मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश सरकार
लखनऊ- 226001
महोदय,
सबसे पहले आपको धन्यवाद देना चाहूंगा कि विभिन्न राज्यों में फंसे यूपी वासियों की जिन समस्याओं के बारे में हमने आपको जो पत्र लिखे हैं उनमें से कुछ तक राहत सामग्री पहुंची है और उनका जीवन बचाया जा सका है।
अब मैं आपके समक्ष दो मामले प्रेषित कर रहा हूँ-
1-  पहला मामला जनपद- गौतम बुध्द नगर में फंसे बिहार राज्य के मजदूरों के संबंध में है। नोएडा सेक्टर- 68 में हल्दीराम का कारखना है जिसमें लगभग 150 मजदूर काम करते हैं। मुझे सूचना दी गयी है कि उनमें से लगभग 45 मजदूर जो बिहार के गया, नवादा एवं जमुई जिलों से हैं इस समय नोएडा की चौखंडी चौकी के पास मैदान में बनी हुयी झुग्गी झौंपड़ियों में रह रहे हैं। उनमें से एक श्री नरेश मांझी, मो॰ नं॰ 9540266107 हैं, जिन्होने हमसे संपर्क साधा है।
स्थानीय विधायक के माध्यम से उन्हें बीते कल खाने के कुछ पैकेट्स तो दिये गए हैं पर उस खाने को लगातार खाया नहीं जा सकता है और इस अफरा तफरी में यदि किसी तरह भोजन न पहुँच सका तो उन्हें भूख का सामना करना ही होगा।
अतएव वे चाहते हैं कि प्रशासन उन्हें आटा, दाल, आलू आदि उपलब्ध करा दे ताकि वे अपना खाना बना खा सकें। उनकी बीमारियों आदि का भी ध्यान रखा जाये।
2-  दूसरा मामला मुंबई का है जिसके संबंध में मैंने आपको 28 मार्च को भी पत्र लिखा था। अलीगढ़ और हाथरस के मजदूर जो कामरेड संजय खान, मो॰ नं॰- 9536642121 के संपर्क में हैं वहां फंसे हुये हैं। उनकी समस्या भी यही है कि BMC उन्हें मराठी खाने के पैकेट देने को तैयार हैं लेकिन उस भोजन से उनका काम नहीं चलता। वे भी आटा, दाल, आलू आदि चाहते हैं ताकि अपने तरीके का भोजन पका कर खा सकें।
उल्लेखनीय है उन्हें यूपी भवन से भी कोई मदद नहीं मिल सकी है।
अतएव आपसे अनुरोध है कि उपर्युक्त पीड़ितों को राहत प्रदान करने के निर्देश देने का कष्ट करें।
आभारी हूंगा।
भवदीय

डा॰ गिरीश, राज्य सचिव
भाकपा,  उत्तर प्रदेश

प्रतिलिपि-  जिलाधिकारी, जनपद- गौतमबुध्द नगर ( उत्तर प्रदेश )
           का॰ अरविन्दराज स्वरूप, सहसचिव, भाकपा, उत्तर प्रदेश  

»»  read more

लोकप्रिय पोस्ट

कुल पेज दृश्य